फ्री में वेबसाईट बनाएं

गुरुवार, 11 नवंबर 2010

मौसम ...


मौसम को देखो कितना हसीन है

ठंडी हवा है और भीगी जमीन है ।

ऐसे में याद आ रही है आपकी

आप भी याद कर रहे हो इतना यकीन है ॥

9 टिप्‍पणियां:

राकेश कौशिक ने कहा…

"आप भी याद कर रहे हो इतना यकीन है"

muskan ने कहा…

rakesh ji,
Blog me aane ke liye shukriya.

उपेन्द्र ने कहा…

bahoot sunder nazm.........

ehsas ने कहा…

pyar ka ehsas hota hi kuch aisa hai. ati sunder.

Surendra Singh Bhamboo ने कहा…

ब्लाग जगत की दुनिया में आपका स्वागत है। आप बहुत ही अच्छा लिख रहे है। इसी तरह लिखते रहिए और अपने ब्लॉग को आसमान की उचाईयों तक पहुंचाईये मेरी यही शुभकामनाएं है आपके साथ
‘‘ आदत यही बनानी है ज्यादा से ज्यादा(ब्लागों) लोगों तक ट्प्पिणीया अपनी पहुचानी है।’’
हमारे ब्लॉग पर आपका स्वागत है।

मालीगांव
साया
लक्ष्य

हमारे नये एगरीकेटर में आप अपने ब्लाग् को नीचे के लिंको द्वारा जोड़ सकते है।
अपने ब्लाग् पर लोगों लगाये यहां से
अपने ब्लाग् को जोड़े यहां से

कृपया अपने ब्लॉग पर से वर्ड वैरिफ़िकेशन हटा देवे इससे टिप्पणी करने में दिक्कत और परेशानी होती है।

Nirankush Aawaz ने कहा…

लेखन अपने आपमें रचनाधर्मिता का परिचायक है. लिखना जारी रखें, बेशक कोई समर्थन करे या नहीं!

बिना आलोचना के भी लिखने का मजा नहीं!

यदि समय हो तो आप निम्न ब्लॉग पर लीक से हटकर एक लेख

"आपने पुलिस के लिए क्या किया है?"
पढ़ सकते है.

http://baasvoice.blogspot.com/
Thanks.

सुशील बाकलीवाल ने कहा…

मौसम है आशिकाना...
बढिया प्रस्तुति.
हमारे घर भी पधारें. धन्यवाद ।

दीप ने कहा…

pyaar to bahut anutha hota hai

muskan ने कहा…

1.उपेन्द्र ji
2.ehsas ji
3. Surendra Singh Bhamboo ji
4. Nirankush Aawaz ji
5. सुशील बाकलीवाल ji
6. दीप ji

Aap sabhi ko बहुत बहुत धन्यवाद ... ।